कैबिनेट मंत्री श्री अकबर ने जिले में सिंचाई बढ़ाने के लिए एक और नए घटोला बांध का भूमिपूजन किया 12 करोड़ की लागत से बनेगा घटोला जलाशय, 250 हेक्टेयर क्षेत्र में सिचांई सुविधा उपलब्ध होगी

0

कैबिनेट मंत्री श्री अकबर ने जिले में सिंचाई बढ़ाने के लिए एक और नए घटोला बांध का भूमिपूजन किया 12 करोड़ की लागत से बनेगा घटोला जलाशय, 250 हेक्टेयर क्षेत्र में सिचांई सुविधा उपलब्ध होगी सहसपुर लोहारा विकासखंड में खेती किसानी के लिए किसानों की उन्नति का रास्ता खुलेगा- कैबिनेट मंत्री श्री अकबर कवर्धा, 06 सितम्बर 2023। राज्य शासन के वन, जलवायु परितर्वतन, परिवहन, आवास, पर्यावरण, विधि-विधायी एवं कवर्धा विधायक श्री मोहम्मद अकबर ने बुधवार को जिले में खेती-किसानी के लिए कबीरधाम जिले में सिचाई क्षमता को विस्तार देते हुए एक और नए बांध (घटोला जलाशय) का भूमिपूजन किया। इस भूमि पूजन के साथ सहसपुर लोहारा क्षेत्र के किसानों की एक और मांग आज पूरी हो गई है। इस बांध का निर्माण होने से हजारों किसानों के 250 हेक्टेयर में खरीफ फसल में सिचाई का प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा। इस बांध की लम्बाई 480 मीटर होगी और उचाई 17.17 मीटर रखी जाएगी। इसमें दो नग जल द्वार और एक नग वेस्ट वीयर का निर्माण प्रस्तावित है। बांध की दायी तट नहर जिसकी लंबाई 6.54 किलोमीटर और बांयी तट नहर जिसकी लंम्बाई 1.50 किलोमीटर निर्माण होगा। इस प्रकार कुल इन नहरों द्वारा 250 हेक्टेयर में सिचाई सुविधा किसानों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में कबीरधाम जिले के कुल सिचाई क्षमता 28 प्रतिशत है, जिसे बढ़ाकर 35.90 प्रतिशत बढाने के लिए भी वर्कप्लान तैयार भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि कबीरधाम जिले का समग्र विकास को पूरी मजबूती और इमानदारी के साथ काम किया जा रहा है। जिले में मेडिकल कॉलेज खुलने का सपना भी हमारी सरकार पूरा करेगी। जिले में गन्ना उत्पादक किसानों को समृद्ध बनाने के लिए गन्ना बेस इथेनॉल उद्योग बन कर तैयार है। इससे हजारों लोगों के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार का राह सृजन होगा। केबिनेट मंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर नवांगांव में सीसी रोड़ निर्माण कार्य के लिए 06 लाख रूपए, मंच निर्माण के लिए 02 लाख रूपए और गांव की जय मां दुर्गा महिला स्व सहायता समूह, उगता सूरज स्व सहायता समूह को 10-10 हजार रूपए देने की घोषणा की। कैबिनेट मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार ने बीते पौने पांच वर्षों में प्रदेश में सिचाई क्षमता को विस्तार करने के लिए अनेक अनेक योजनाएं बनाई है।

प्रदेश के अलग-अलग जिलो में विकासखण्डों में किसानों की स्थिति को सुधारने के लिए अनेक बांध-जलाशयों का निर्माण किया जा रहा है। राज्य सरकार की नरवा योजना से पूरे प्रदेश में भू-जल स्तर भी सुधरा है। किसानों को इसका सीधा लाभ भी मिलने लगा है। कैबिनेट मंत्री श्री अकबर ने कहा कि कबीरधाम जिले के बोड़ला विकासखण्ड के ग्राम जरहा-नवागांव में 12 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाले विशाल जलाशय निर्माण होने से जिले के सहसपुर लोहारा विकासखण्ड के हजारों किसानों के 250 हेक्टेयर में खरीफ फसल में सिचाई का प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा। कैबिनेट मंत्री श्री अकबर ने कहा कि सहसपुर लोहारा विकासखण्ड के किसानों द्वारा पिछले 15 वर्षों से इस क्षेत्र में सिचाई सुविधा के लिए बांध-जलाशय-नहर विस्तार की मांग की जा रही थी। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल की सरकार, गांव-गरीब, किसानो, वनांचल में रहने वाले लाखों परिवारों और युवाओं की सरकार है। इस सरकार ने सभी वर्गों के विकास के लिए अलग-अलग योजनाएं लाकर सभी का जीवन स्तर को बेहतर और समृद्ध बनाने का काम किया है, चाहे राजीव गांधी किसान न्याय योजना हो, भूमिहीन मजदूर न्याय योजना, गोधान न्याय योजना, लधुवनोपज का समर्थन मूल्य निर्धारित कर मिलेट्स की खरीदी हो या तेन्दूपत्ता का प्रति मानकर बोरा 25 सौ से बढ़ाकर 4 हजार की बात हो। इन सभी योजनाओं से सीधे हिग्राहियों के चेब के पैसा पहुंचाने और उनके जीवन को उठाने का काम भूपेश बघेल की सरकार कर ही है। उन्होने कहा कि कबीरधाम जिले में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम की नो स्कूल संचालित हो रही है, इससे बच्चों को निःशुल्क शिक्षा मिल रही है वहीं पालकों को पैसा भी बचाने का काम सरकार कर ही है। कबीरधाम जिले में सिचाई क्षमता बढ़ाने जिले में और 15 नए जलाशय और व्यववर्तन पर हमारी सरकार काम कर रही है-कैबिनेट मंत्री श्री अकबर कैबिनेट मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि कबीरधाम जिले में औसत से कम बारिश होती है, इसलिए भूपेश बघेल की सरकार किसानों की चिंता करती है और किसानों को सशक्त, समृद्ध बनाने के लिए कबीरधाम जिले में सिचाई क्षमता को बढ़ाने के लिए रोडमैप तैयार कर लिया है। कबीरधाम जिले में घटोला बांध सहित और 15 नवीन सिंचाई योजनाओं को मूर्त रूप देने की दिशा में काम बढ़ा दिया है। इन योजनाओं के बनने जाने से कबीरधाम जिले को सिंचाई क्षमता जो वर्तमान में 28.27 प्रतिशत है वह बढ़कर 35.90 प्रतिशत हो जाएगा। अर्थात जिले का सिचाई रकबा 54464 हैक्टेयर से बढ़कर 68006 हो जाएगा। भूमिपूजन के अवसर पर बताया गया कि कबीरधाम जिले में इस संभाग के अंतर्गत 15 नवीन लघु सिचाई योजनाएं को मूर्त रूप देने के लिए रोड मैप तैयार किया गया है। जिसमें रामपुर बरेड़ा व्यपवर्तन, जगमड़वा जलाशय, सुतियापाठ मध्यम जलाशय के दायी तट पर नहर विस्तारीकरण, राली व्यपवर्तन नहर कार्य, मगरवाड़ा व्यपवर्तन नहर कार्य, कोयलारी व्यपवर्तन, बकेला फीडर कैनाल से कं्राति रमतला एवं देवसरा जलाशय की नहरों का विस्तरीकरण, रिमाडलिंग कार्य, सनकपाटनाला एनीकट कम काजवे, रेंगाबोड कुण्डा व्यपवर्तन नहर कार्य, दमगढ़ व्यपवर्तन योजना, थुवा व्यपवर्तन, नहर कार्य, जल्दानाला जलाशय नहर कार्य का काम प्रस्तावित है। इसमें से क्रांति जलाशय एव नहर विस्तारी करण का भूमिपूजन हो चुका है। इन सभी कार्य पूरा होने से 13 हजार 542 हेक्टेयर में सिचाई क्षमता बढेगा। इस प्रकार जला संसाधन संभाग के द्वारा जिले में कुल सिचाई रकबा 54465 से बढ़कर 68006 हो जाएगा। साथ ही कुल सिचाई क्षमता कबीरधाम जिले की 28.75 से बढ़कर 35.90 हो जाएगा। इस अवसर पर बोड़ला जनपद उपाध्यक्ष श्री सनत जायसवाल, कृषि उपज मंडी अध्यक्ष श्री नीलकंठ साहू, उपाध्यक्ष श्री चोवाराम साहू सहित क्षेत्रिय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। CNI NEWS कवर्धा छत्तीसगढ़ से अनवर खान की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed